मुद्दा

अब सिद्धारमैया ने दी मोदी को 15 मिनट की यह चुनौती

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ‘15 मिनट की चुनौती’ की टिप्पणी के बाद कर्नाटक में भाजपा और कांग्रेस के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया है.

मोदी ने मंगलवार को एक चुनावी रैली में राहुल पर कटाक्ष करते हुए उन्हें सिद्धारमैया सरकार की उपलब्धियों के बारे में कागज से पढ़े बिना 15 मिनट के लिए ‘‘किसी भी भाषा में बोलने’’ की चुनौती दी थी. मोदी की इस चुनौती पर मुख्यमंत्री ने पलटवार किया.

कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया ने पीएम मोदी को एक नई चुनौती देकर दिया है. सिद्धारमैया ने बुधवार को पीएम मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि वह कर्नाटक में बीएस येदुरप्पा सरकार की उपलब्धियों पर 15 मिनट भाषण देकर दिखाएं. सिद्धारमैया ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी भाषण के दौरान पेपर देख सकते हैं.
इसके साथ ही सिद्धारमैया ने प्रधानमंत्री के उस दावे का भी खंडन किया कि कर्नाटक सरकार कृषि संकट के लिए “उदासीन” थी और फसल बीमा योजना को प्रभावी ढंग से लागू नहीं कर रही थी.

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘सर कर्नाटक सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत लागत का 50 प्रतिशत भुगतान किया. देश में केवल हमारी ही सरकार है जिसने किसानों के खाते में बीमा राशि का सीधे भुगतान करने के लिए आईटी को तैनात किया है. फसल बीमा भी पुरानी संप्रग योजना है. ’’

भारतीय जनता पार्टी की कर्नाटक किसान इकाई के कार्यकर्ताओं से ‘नरेंद्र मोदी एप’ के जरिये संवाद करते हुए मोदी ने कहा,‘‘कर्नाटक से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से संबंधित शिकायतें मिल रही है. कर्नाटक सरकार उदासीन है. वह प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से एक किसान को मिलने वाले फायदे के बारे में परवाह नहीं करती है.’’

Comments
To Top