अभी अभी

जुनैद, पहलू और उमर के घर ईद का तोहफा लेकर पँहुचे शायर इमरान प्रतापगढ़ी

सामाजिक सरोकारों की शायरी से अवाम के दिलों पर राज करने वाले शायर इमरान प्रतापगढी का एक कदम इन दिनों सोशल मीडिया पर चर्चा में है, लाखों लोग उसे शेयर कर रहे हैं

गत वर्ष ट्रेन में मार दिया गया बच्चा जुनैद हो या गाय के नाम पर मारे गये पहलू खान या मोहम्मद उमर हों, समाज धीरे धीरे इन्हे भूल चुका है, लेकिन इमरान प्रतापगढी के एक कदम ने फिर से इनकी यादें ताजा कर दी हैं ।

दो दिन पहले देश के युवा शायर इमरान प्रतापगढी अपने दोस्तों के साथ बारी बारी इन तीनों के घर पँहुचे ईद के तोहफे लेकर, जिसमें कपडे, खजूर, सिवंइयॉं, फल और नकद राशि थी, बिन बताये पँहुचने पर पूरा परिवार हैरत में पड गया, इमरान से लिपट कर रोती हुई जुनैद और पहलू की मॉं की फोटो पूरे सोशल मीडिया पर वायरल है ।

यही नहीं इमरान पहलू के घर से सीधा राजस्थान के घाटमीका पँहुचे, जहॉं उन्होंने गाय के नाम पर मारे उमर के बच्चों और गॉंव वालों के साथ रोज़ा खोला, गाडियों का काफिला और इतने सारे मेहमान देख पूरा गॉंव हैरत में पड गया, लोग इमरान प्रतापगढी की तारीफ में फेसबुक और ट्विटर पर जमकर पोस्ट कर रहे हैं

मज़े की बात ये थी कि इमरान का ये कार्यक्रम इतना गुपचुप था कि किसी को कुछ खबर ही न थी, लोग लिख रहे हैं कि जहॉं लोग मरने वालों पर सियासी रोटी सेंक कर चुप बैठ गये वहीं एक शायर जो पिछले साल भर से उस मुद्दे पर आवाज़ उठा रहा है और आज पीडितों के घर पँहुच कर उसने राजनैतिक लोगों को आईना दिखा दिया है

Comments
To Top