अभी अभी

आप दरिंदों से अपना बंगाल बचाये रखियेगा – इमरान प्रतापगढी

मशहूर नौजवान शायर इमरान प्रतापगढी ने बंगाल में भडकी हिंसा पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए लगातार कई सारे ट्वीट और फेसबुक पोस्ट करके लोगों से अमन और शांति की अपील की है । बंगाल में एक बडी जमात इमरान प्रतापगढी को सुनने वालों की है, इमरान वहॉं युवाओं में ख़ासे लोकप्रिय हैं ।

रामनवमी के मौक़े पर भडकी दंगों की आग ने इस युवा शायर के मासूम एहसासों को भी जलाया है, लगातार तीन चार दिनों से इमरान लोगों से शांति और अमन की अपील कर रहे हैं । उनका एक शेर सोशल माडिया पर ख़ूब वायरल हो रहा है अपने अश्कों से अपना रूमाल बचाये रखियेगा, प्यार, मुहब्बत वाले सब आमाल बचाये रखियेगा । वो लाशों को नींव में रखकर कुर्सी पाना चाह रहे, आप दरिंदों से अपना बंगाल बचाये रखियेगा ।

बिहार और बंगाल में भडकी इस हिंसा पर इमरान का कहना है कि गुरू रवींद्रनाथ टैगोर और क़ाज़ी नज़रुल इस्लाम की धरती को कौन दरिंदें हैं जो नफ़रत की आग में झोंकना चाहते हैं, वो एक और शेर सुनाते हुए बंगाल की यकजहती का बखान करते हैं चाहत वाले सारे मौसम, साथ मनाता है बंगाल, चाहे ख़ुशियॉं हों या मातम, साथ मनाता है बंगाल । नफ़रत वालों आओ आकर देखो अपनी ऑंखों से, दुर्गापूजा और मुहर्रम, साथ मनाता है बंगाल ।

इमरान का कहना है कि आसनसोल के इमाम साहब ने बेटे की मौत के बाद भी शांति और अमन की अपील करके एक बार फिर से बंगाल की मिट्टी को पूरे भारत में मिसाल बना दिया है, पूरे भारत के दंगाइयों को इस वक्त उस बूढे बाप के कॉंधों पर जवान बेटे के जनाज़े के बाद भी शांति और अमन की अपील को सुनना चाहिये

Comments
To Top