अभी अभी

बलात्कार के आरोपी भाजपा विधायक की पिटाई से रेप पीड़िता के पिता की मौत

यूपी की राजधानी लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश करने वाली पीड़िता के पिता की मौत हो गई है. पीड़िता ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर गैंगरेप का आरोप लगाया है. आरोप है कि विधायक के भाई और उसके गुर्गों ने पीड़िता के पिता की बर्बर पिटाई की थी और  उसे ही गिरफ्तार कराकर जेल भिजवा दिया था.

उन्नाव के बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई जय सिंह पर आरोप था कि उसने अपने गुंडों के साथ पीड़ित पप्पू उर्फ सुरेंद्र की बेरहमी से पिटाई की थी. इसकी शिकायत के बावजूद पुलिस ने विधायक का नाम एफआईआर से हटा दिया था. पुलिस ने आरोपियों के साथ मिलकर पप्पू को ही मारपीट के जुर्म मे जेल भेज दिया था.

पीड़िता: भाजपा विधायक ने नौकरी के बहाने बंधक बनाकर दुष्कर्म किया, की आत्मदाह की कोशिश

आरोप है कि कोर्ट से मुकदमा वापस लेने के लिए लिए विधायक द्वारा पीड़िता को धमकाया जा रहा था. इसी बीच 3 अप्रैल को हथियारों से लैस विधायक का भाई अपने गुर्गो के साथ पीड़िता के घर पर आ धमका और परिवार के लोगों को जमकर पीटा. सत्ता पार्टी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को खुश करने के लिए पुलिस ने पीड़िता के परिवार के खिलाफ ही झूठा मुकदमा दर्ज कर उनको प्रताड़ित करना शुरू कर दिया. इन्ही सब प्रताड़ना से तंग आकर ही पीड़िता आत्मदाह करने के लिए लखनऊ में मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पहुंच गई.

युवती का दावा है कि उसने छह महीने पहले जनता दरबार में मुख्यमंत्री से शिकायत की लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की. चार अप्रैल 2018 को विधायक ने उसके पिता पर मारपीट का फर्जी केस दर्ज करवा दिया. यहाँ तक कि माखी एसओ अशोक सिंह ने भी गैंगरेप का केस वापस लेने का दबाव बनाया था. और उनकी बात न मानने पर उसके पिता को बुरी तरह पीटा गया. जिसके बाद वह अस्पताल में भर्ती थे और आज सुबह उनकी मौत हो गयी. इस मामले में अखिलेश यादव ने राज्य की योगी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए ट्वीट करते हुए कहा है है कि

Comments
To Top