अभी अभी

मायावती के साथ गठबंधन के वास्ते कदम पीछे करने को भी तैयार: अखिलेश यादव

NDTV से एक्स्क्लुसिव बात करते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और फूलपुर में बीएसपी के साथ गठजोड़ कर भारतीय जनता पार्टी को धूल चटाने के बाद खुलासा किया है कि इस गठजोड़ के लिए पहल उन्होनें की और वो गठबंधन के वास्ते दो कदम पीछे हटने को भी तैयार हैं. बीएसपी के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला दोहराते हुए अखिलेश ने बीजेपी से सबक लेने की बात कही. इसके अलावा उन्होनें अमित शाह के विपक्षी दलों की तुलना कुत्ता बिल्ली सांप और नेवले से करने पर भी बीजेपी को जवाब दिया. अखिलेश यादव ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा कि 2019 में भी सपा-बसपा साथ मिलकर लड़ेगी.

अखिलेश यादव ने कहा कि 2019 में बीएसपी-सपा साथ लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि मायावती ने गठजोड़ के ख़िलाफ़ कुछ नहीं कहा है. मैंने गठजोड़ की पहल की. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों पार्टियों के गठजोड़ को नेताजी (मुलायम सिंह यादव) का आशीर्वाद है. इसके आने वाले दिनों में होने वाले एमएलसी चुनावों पर भी अखिलेश यादव ने बात की. उन्होंने कहा कि वे एमएलसी चुनाव नहीं लड़ेंगे.

अखिलेश यादव ने कहा कि मैं समय के साथ बदलाव को तैयार हूं. अपनी तरफ से मुझे पता है कि मुझे इस गठबंधन को चलाना होगा. यह गठबंधन अमह है. अगर मैं दो कदम पीछे लेता हूं, तो मैं कुछ भी करने को तैयार हूं. हालांकि, इसका मतलब यह नहीं कि दोनों में से कोई एक पार्टी बड़ी थी या छोटी.

टिप्पणियां अखिलेश यादव ने इस दौरान 2017 में हुए यूपी चुनाव परिणाम की भी बात की. उन्होंने कहा कि जो भी परिणाम आया उसके लिए मैं जनता को धन्यवाद देना चाहता हूं. 2017 ने बहुत कुछ सीखाने-सीखने का मौका दिया है. शायद राजनीति में यह पल आना जरूरी होता है कि आप एक बार हारे. शायद हार ही आपको आने वाले समय का रास्ता दिखाएगी. जब उनसे चुनाव हारने का कारण पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी जात और धर्म का बात रही थी, तो हमें भी इसकी बात करनी चाहिए थी.

परिवार में चल रही दूरियों के बारे में उन्होंने कहा कि अह सभी गिले-शिकवे दूर हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि हमारा परिवार एकदम ठीक है. सभी के साथ अब संबंध बहुत अच्छे हैं. पिता के साथ एक पुत्र का जैसा संबंध होना चाहिए, वैसा ही मेरा है. वैसे ही रहेगा. अभी भी मैं उनसे मिलकर आया हूं. मैं लगातार उनसे मिलता हूं. नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने अब आशीर्वाद दे दिया है और जब वह आशीर्वाद दे देते हैं तो रास्ता एकदम साफ हो जाता है. उन्होंने कहा कि नेताजी ने बसपा गठबंधन को भी आशीर्वाद दिया है. नेताजी ने मुझसे कहा कि गठबंधन अच्छा फैसला है. अब हमारे परिवार में सब कुछ ठीक है.

यहाँ देखे NDTV से अखिलेश यादव की एक्स्क्लुसिव बातचीत

Comments
To Top